10 जनवरी से ही होगा बैंकिंग सेक्टर में कामकाज, वजह...

 

 

नई दिल्ली

8 जनवरी और फिर 9 जनवरी को बैंक कर्मचारी हड़ताल पर रहेंगे। इस हड़ताल की वजह से बैंकिंग सेवाओं पर असर पड़ सकता है। अब 10 तारीख यानी गुरुवार को ही बैंकों से जुड़े कामकाज हो सकेंगे। सेंट्रल ट्रेड यूनियन्स ने इस हड़ताल का आह्वान किया है। इन संगठनों का आरोप है कि केंद्र सरकार ने बैंक कर्मचारियों के हित में कदम नहीं उठाए। इस हड़ताल के बारे में ऑल इंडिया बैंक इम्प्लॉइज एसोसिएशन (AIBEA) और बैंक इम्प्लॉइज फेडरेशन ने इंडियन बैंक एसोसिएशन यानी (IBA) को जानकारी दे दी है। एक बैंक ने बीएसई को भी इस बारे में जानकारी दे दी है। दूसरी तरफ, कर्नाटक में भी ट्रेड यूनियंस ने हड़ताल का आह्वान किया है। बेंगलुरू से मिली जानकारी के मुताबिक, मंगलवार और बुधवार को इसकी वजह से आम जनजीवन प्रभावित हो सकता है।

 

बैंक हड़ताल की वजह क्या?

बैंक कर्मचारियों के संगठन केंद्र सरकार की नीतियों को श्रमिक विरोधी बता रहे हैं। आईडीबीआई के अलावा इलाहाबाद बैंक ने भी बीएसई को सूचित किया है कि हड़ताल का असर बैंक के कामकाज पर पड़ सकता है। हालांकि, सेवाओं पर असर ना पड़े, इसके लिए बैंक अपने स्तर पर तैयारियां कर रहे हैं। बता दें कि दिसंबर में क्रिसमस के बाद से पहले छुट्टियों और बाद में हड़ताल के वजह से बैंकिंग सेक्टर के कामकाज पर असर पड़ा। अब नए साल में भी हड़ताल से ये सेक्टर लोगों की परेशानियां बढ़ाएगा।

 

बैंकों पर असर

आईडीबीआई और इलाहाबाद बैंक के अलावा बैंक ऑफ बड़ौदा ने भी कहा है कि हड़ताल के चलते उनकी कुछ ब्रांचों में वर्किंग पर असर हो सकता है। इस बीच, कलकत्ता हाईकोर्ट ने हड़ताल के खिलाफ दायर एक जनहित याचिका को खारिज कर दिया है। बता दें कि 26 दिसंबर को भी 9 बैंक यूनियनों ने हड़ताल की थी।

You Might Also Like

प्रमुख खबरें

लाइव क्रिकेट स्कोर

सोशल प्लेटफार्म से जुडें

जुडें हमारे फेसबुक पेज से

जुडें हमारे ट्विटर पेज से

आपके विचार